Ranchi rims

केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने दी हरी झंडी, यूनानी दवा पर शोध करेंगे रिम्स के डॉक्टर, कोरोना को केन्द्र में रखकर होगा शोध Jharkhand News

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

करुणा महामारी के कारण उत्पन्न हुई स्थिति से निपटने के लिए आज केवल भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व लगा हुआ है ऐसे में भारतीय आयुष मंत्रालय की तरफ से झारखंड के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स के दो डॉक्टरों को यूनानी दवा पर शोध करने की अनुमति दी है इसके लिए आयुष मंत्रालय ने उन्हें 6 लाख भी दिए हैं आयुष मंत्रालय की तरफ से डॉक्टरों को कोरोनावायरस की अनुमति दी गई है आयुष मंत्रालय के सेंट्रल काउंसिल ऑफ यूनानी मेडिकेशन की यूनानी दवाओं का शोध कोरोनावायरस के मरीजों पर किया जाएगा.

Advertisement

Also Read: 8वीं बोर्ड परीक्षा में फेल छात्रों को ग्रेस मार्क्स देकर किया गया प्रमोट, संबोधित रिजल्ट इस दिन होगा जारी

शोध 3 तरह के लोगों पर किया जाएगा इसमें सबसे पहला वह व्यक्ति होगा जो पूरी तरह से स्वस्थ हो चुका है वही दूसरा जो बीमार है और सबसे अंतिम तीसरा जो कोरोनावायरस से स्वस्थ हो चुके हैं शोध के दौरान तकरीबन 50 मरीजों को केंद्र में रखकर शोध किया जाएगा इन सभी पर यूनानी दवाएं इस्तेमाल होगा. मरीजों पर यूनानी दवा के साथ ही पहले से चल रही दवा भी होगा ताकि पता चल पाएगी यूनानी दवा का असर मरीज पर कितना हो रहा है. प्रत्येक 15 दिनों पर मरीजों का सैंपल लिया जाएगा ताकि शोध का ठीक ढंग से पता चल रहा है

Also Read: मेडिकल कॉलेजों में नामांकन पर लगी रोक को हटाने के लिए, मंत्री बन्ना गुप्ता केन्द्रीय मंत्री से करेगे मुलाकात

डॉक्टरों का कहना है कि यह शोध गंभीर मरीजों पर नहीं किया जाएगा साथ ही गर्भवती महिलाओं और बच्चों पर भी यह शोध नहीं होगा. यह शोध पूरा होने में 4 से 5 महीने का समय लग सकता है जैसे-जैसे दवाओं का असर मरीजों पर होगा उसी तरह से रिपोर्ट आयुष मंत्रालय को भेजे जाएंगे

Also Read: सादगी के साथ मनाया गया झारखंड विधानसभा का स्थापना दिवस, शहीदों के परिजनों को किया गया सम्मानित

ऐसा पहली बार होगा कि झारखंड के डॉक्टरों को आयुष मंत्रालय की तरफ से कोरोनावायरस शोध करने की अनुमति दी गई है शोध पूरा हो जाने के बाद यदि मरीजों में इसका सकारात्मक प्रभाव दिखता है तो इसे रिम्स की एक बड़ी उपलब्धि के रूप में शामिल किया जा सकेगा साथ ही रिसर्च स्टडी भी पब्लिश हो सकेगी इन सबके अलावा सबसे महत्वपूर्ण चीज यदि यह सफल होता है तो रिम्स अपना पेटेंट भी डाल सकेगा ताकि रे मुझको इसका रेवेन्यू मिल सके

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Related News

Popular Searches