Anti-CAA प्रदर्शन के दौरान दिल्ली पुलिस पर लगा महिलाओ के साथ यौन उत्पीड़न करने का आरोप

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

NRC-NPR और CAA लागू करने के फैसले के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन हुए. दिल्ली में शुरू हुआ एंटी-सीएए आंदोलन देखते-देखते पुरे देश में फ़ैल गया और जमकर मोदी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए.

नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन वूमेन ने कहा है कि एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों पर दिल्ली पुलिस के द्वारा कितनी बर्बरता कि गई यह किसी से छुपी नहीं है. 10 फ़रवरी को जामिया के बाहर हो रहे प्रदर्शन में जिसमे भारी संख्या में छात्र और स्थानीय निवासी थे उनपर दिल्ली पुलिस के द्वारा केमिकल स्प्रे का इस्तेमाल किया गया था. नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन वूमेन ने इसके खिलाफ न्यायिक जांच और एक श्वेत पत्र की मांग की है.

Also Read: बेंगलुरु हिंसा में मुस्लिम युवाओ ने मंदिर को बचाने के लिए बनाई मानव श्रृंखला

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों ने नागरिकता संशोधन अधिनियम, राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (CAA, NRC, NPR) के खिलाफ संसद भवन तक एक शांतिपूर्ण विरोध मार्च निकालने का प्रयास किया था लेकिन दिल्ली पुलिस द्वारा बैरिकेड लगा रोक दिया गया था.

एक्टिविस्ट अरुणा रॉय की अगुवाई वाली नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन वूमेन ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि उस मार्च में 70-80 लोग शामिल थे, जिनकी उम्र 15-60 के बीच थी, उनमे से 30-35 पुरुष और 15-17 महिलाओ को काफी चोटे आई थी. रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि दिल्ली पुलिस ने विरोध के दौरान 45 महिलाओं और पुरुषों का यौन उत्पीड़न किया।

Also Read: राम मंदिर ट्रस्ट के प्रमुख कोरोना पॉजिटिव, PM मोदी के साथ भूमि पूजन में हुए थे शामिल

महिलाओं को पुरुष पुलिसकर्मियों द्वारा छेड़छाड़ की गई, जिन्होंने उनके कपड़े फाड़ने का प्रयास किया, उनके स्तनों पर मुक्का मारा या उनके बूब्स पर थप्पड़ मारे, साथ ही साथ उनके बैटन को योनि में डालने की कोशिश की। रिपोर्ट में कहा गया है कि कम से कम 15 महिलाओं को उनके निजी अंगों में दर्द हुआ था और उनकी योनि में चोटें आई थीं। “महिलाओं, 16 वर्ष की आयु और 60 वर्ष की उम्र तक, उन पर यौन हमला किया गया था, जिनमें से कई अब गंभीर स्त्री रोग संबंधी जटिलताओं से पीड़ित हैं।

Leave a Reply

In The News

केन्द्र सरकार का आदेश इस दिन खुलेगे सिनेमा घर, स्कूल खोलने का अधिकार राज्यों को दिया गया

कोरोना महामारी के कारण उपजे स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार के द्वारा मार्च महीने से ही लॉकडाउन की घोषणा…

BJP: बिहार चुनाव से ठीक पहले BJP के राष्ट्रीय संगठन में फेरबदल, झारखंड से इन्हें मिला मौका

बिहार में विधानसभा चुनाव के तारीखो का एलान शुक्रवार को कर दिया गया है। सभी राजनीतिक दल अपने हिसाब से…

ऐसा कोई सबूत नहीं है जो साबित कर सके की तब्लीगी जमात के द्वारा कोरोना फैला है: बॉम्बे हाईकोर्ट

चीन से फैसले कोरोना वायरस का प्रकोप भारत में भी देखने को मिला है। शुरुआती दौर में कोरोना को तब्लीगी…

Shaheenbagh Dadi: शाहीनबाग की दादी को मिला TIME मैंग्जीन के 100 प्रभावशाली हस्तियों में जगह

मोदी सरकार के द्वारा नागरिकता कानून लागू किए जाने के बाद देश भर में इसका विरोध शुरू हो गया था.…

पहली बार नौसेना के हेलीकाप्टर चालक दल में शामिल हुई 2 महिला अधिकारी

भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है कि भारतीये नौसेना के हेलीकाप्टर चालको के बेड़े में किसी…

कृषि विधेयक के खिलाफ 25 सितंबर को भारत बंद को लेकर ट्विटर पर चला ट्रेंड

केंद्र सरकार के द्वारा लोकसभा में तीन कृषि क्षेत्र विधेयकों को पारित करने के बाद कई किसान संगठनों ने तीव्र…

जोहार 😊

Popular Searches