Skip to content
Advertisement

जब तक किसानों की मांगे पूरी नहीं होती, तब तक सरकार को चैन से बैठने नहीं देंगे

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने (14 फरवरी) रविवार को कहा कि जब तक सरकार के खिलाफ आंदोलन करते हुए किसानों की मांगे नहीं मान लेती तब तक सरकार को चैन से बैठने नहीं देंगे.

करनाल जिले की इंद्री अनाज मंडी में किसानों की महापंचायत को संबोधित करते हुए टिकैत ने कहा कि केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे 40 नेता पूरे देश में घूम-घूम कर समर्थन की मांग कर रहे हैं.

टिकैत ने कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुए कहा जब तक सरकार हमारे पक्ष में फैसला नहीं करती, सीमित प्रदर्शनकारी नेताओं से बात नहीं करती और हमारी मांगों पर सहमत नहीं होती तब तक हम उसे चैन से बैठने नहीं देंगे.

Also Read: उदित राज ने पुलवामा हमले की बरसी पर मोदी सरकार से पूछा- सैनिकों के हवाई जहाज से भेजने पर गृह मंत्रालय ने इंकार क्यों किया?

राकेश टिकैत ने यह भी कहा कि कानून ना केवल किसानों को बल्कि छोटे किसानों, दिहाड़ी मजदूरों और अन्य वर्गों को भी प्रभावित करेगा. इनके अलावा इस महापंचायत में किसान नेता बालवीर सिंह राजेवाल, दर्शन पाल और हरियाणा शाखा के प्रमुख गुरनाम सिंह चढूनी भी मौजूद रहे. राजेवाल ने कहा कि किसान महीनों से प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन सरकार उनकी मांग नहीं सुन रही है.

Advertisement
जब तक किसानों की मांगे पूरी नहीं होती, तब तक सरकार को चैन से बैठने नहीं देंगे 1