pranab-mukharje

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन कि खबर अफवाह, बेटे ने कहा भारतीय मीडिया फेक खबरों का अड्डा

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कि तबियत कुछ दिनों से ज्यादा ख़राब है. इलाज के लिए उन्हें सेना के अनुसंधान और रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहाँ उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. इसी बीच कुछ मीडिया चैंनलों और सोशल मीडिया में उनके निधन कि खबर चल रही है. जो एक अफवाह है.

Advertisement

प्रणव मुखर्जी कि स्थिति बनी हुई है नाजुक:

प्रणब मुखर्जी की स्वास्थ्य स्थिति अभी भी गंभीर बनी हुई है। वर्तमान में उन्हें वेंटिलिटर पर रखा गया है. सेना के अनुसंधान और रेफरल अस्पताल ने कहा कि 10 अगस्त को उनके सिर कि सर्जरी कि गई थी. यह सर्जरी आपातकालीन सर्जरी की थी, जिसके बाद उनकी स्वास्थ्य स्थिति ख़राब हो गयी. जिसके बाद उन्हें वेंटिलिटर पर रखा गया है. 84 वर्षीय मुखर्जी ने 2012 से 2017 के बीच भारत के 13 वें राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया था। इसके अलावा उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्रियों इंदिरा गांधी, पी.वी. नरसिम्हा राव और मनमोहन सिंह कि सरकारों में अहम मंत्रालय संभाला है.

Also Read: बेंगलुरु हिंसा में मुस्लिम युवाओ ने मंदिर को बचाने के लिए बनाई मानव श्रृंखला

बेटे ने कहा अफवाह फ़ैलाने का अड्डा बन गई है भारतीय मीडिया:

प्रणव मुखर्जी के निधन कि खबर कुछ पत्रकारों और मीडिया चैनेलो द्वारा दिखाए जाने के बाद उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी का बयान सामने आया है. अभिजीत ने अपने ट्वीट में कहा कि “मेरे पिता श्री प्रणव मुखर्जी अभी भी जीवित हैं और हेमोडायनामिक रूप से स्थिर हैं! प्रतिष्ठित पत्रकारों द्वारा सोशल मीडिया पर प्रसारित की जा रही अटकलों और फर्जी खबरों से साफ जाहिर होता है कि भारत में मीडिया फेक न्यूज का कारखाना बन गया है।”

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Related News

Popular Searches