wasim rizvi

वसीम रिजवी के द्वारा कुरान पर सवाल उठाने को लेकर मचा बवाल, रिजवी को फांसी देने की उठी मांग

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में कुरान पाक की कुछ आयतों को हटाने से संबंधित पीआईएल किए जाने की घोर निंदा की गई है. हजरत कुतुबुद्दीन रिसालदार बाबा दरगाह परिसर में एदार ए सरिया के तत्वधान में शहर के उलेमा, बुद्धिजीवी और विभिन्न संगठन के प्रतिनिधियों की बैठक शनिवार को हुई.  जिसमें रिजवी के द्वारा उठाए गए मुद्दे की घोर निंदा की गई.

Advertisement

बैठक में मौजूद लोगों ने कहा कि कुराने पाक के तीसों पारे और हर एक आयत अल्लाह का कलाम है. इसे कोई बदल नहीं सकता. मुसलमान कुरान पाक और सहाबा की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं कर सकती है. वसीम रिजवी ने सहाबा ए कराम के खिलाफ और कुराने पाक के खिलाफ आवाज उठाकर पूरी दुनिया के करोड़ों और देश के 20 करोड़ से अधिक मुसलमानों की आस्था को ठेस पहुंचाई है. इस हरकत से देश की गंगा जमुनी तहजीब को ठेस पहुंच रही है.

Also Read: BJP MLA ने सैनिटाइजर पीकर की खुदकुशी की कोशिश, जानिए विधायक ने क्यों उठाया इतना बड़ा कदम

आगे लोगों ने कहा वसीम रिजवी देश के लिए खतरनाक और देश का गद्दार है. पूरे विश्व के शिया समुदाय ने मुफ्सिद और मुशरिक करार दिया है. बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि वसीम रिजवी को फांसी की सजा दी जानी चाहिए. सुप्रीम कोर्ट से मांग की गई कि पीआईएल को रद्द कर उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही करें. साथ ही झारखंड हाई कोर्ट में एदार ए शरिया झारखंड के द्वारा वसीम रिजवी के खिलाफ पीआईएल दर्ज होगा.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Related News

Popular Searches