Mob Lynching

गुमला में लाठी डंडे से पीट-पीटकर कर आदिवासी युवक की हत्या, शुक्रवार से था लापता

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

गुमला जिले के घाघरा थाना क्षेत्र के आदर चट्टी नामक गांव में 36 वर्षीय विजय उरांव की लाठी डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। युवक की पत्नी रंथि देवी ने बताया कि विजय शुक्रवार दोपहर में खाना खाकर घर से निकला। इसके बाद से देर रात तक घर नहीं आया। काफी खोजबीन के बाद भी देर रात तक उसका पता नहीं चला।

Advertisement

Also Read: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और पत्नी कल्पना सोरेन की कोरोना जांच रिपोर्ट आई निगेटिव

सुबह सूचना मिली कि चट्टी गांव के बरतिया उरांव के घर में उसका शव पड़ा हुआ है। पत्नी और ग्रामीणों का कहना है कि बरतिया के घर में ही विजय उरांव की हत्या लाठी-डंडे से पीट-पीटकर की गई है। बताया जा रहा है कि विजय उरांव खेती और दैनिक मजदूरी कर परिवार चलाता था। विजय का एक 16 साल का बेटा उज्जवल उरांव है।

Also Read: झामुमो पर पूर्व सांसद लक्ष्मण गिलुवा का हमला कहा, 6 महीने की सरकार एक भी वादा पूरा नहीं कर पाई है

घाघरा थाना प्रभारी सुधीर प्रसाद साहू ने संदिग्ध बरतिया उरांव व उसके दो बेटे को पूछताछ के लिए हिरासत में लेकर थाना पहुंची। गांव की महिलाओं ने पुलिस की कार्रवाई पर असंतोष जताते हुए बरतिया उरांव की पत्नी शांति देवी को भी आरोपी बताते हुए थाना लेकर पहुंची।

Also Read: पूर्व की रघुवर सरकार में गठित ग्राम विकास समितियों की फंडिंग पर रोक, खर्च नहीं की गयी राशि होगी वापस

महिलाओं का आरोप है कि जब बरतिया के घर में घटना हुई है और घटना से संबंधित सबूत को मिटाने का काम शांति ने किया तो फिर पुलिस ने उसे क्यों नहीं गिरफ्तार किया। इसलिए महिलाओं ने शांति को पकड़ कर घाघरा थाना के हवाले कर दिया। घटना के संबंध में थाना प्रभारी सुधीर प्रसाद साहू से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हत्या की सूचना के बाद शव को बरामद कर पोस्टमाॅर्टम के लिए भेजा गया है। पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches