jharkhand bjp

होमगार्ड और पुलिस अभ्यर्थियों को प्रशासन ने आधी रात को खेलगांव किया शिफ्ट मिलने पहुंचे BJP के नेता

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखंड की राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में पिछले 27 दिनों से होमगार्ड और जिला पुलिस के सफल अभ्यर्थी धरने पर बैठे हैं उनकी मांग है कि सरकार के द्वारा जो नियुक्तियां बची रह गई थी साथ ही जिन का चयन सूची जारी नहीं किया गया है जल्द से जल्द जारी कर उन्हें नियुक्ति पत्र दिया जाए परंतु शनिवार की देर रात धरना दे रहे अभ्यर्थियों को प्रशासन ने मोरहाबादी मैदान को खाली करने का आदेश देते हुए उन्हें खेल गांव में अस्थाई जेल में शिफ्ट कर दिया.

Advertisement

आधी रात को अभ्यर्थियों और पुलिस बल के बीच हुए हाईवोल्टेज ड्रामे के बाद रविवार को भी खेल गांव में बनाए गए अस्थाई जेल के पास अभ्यर्थियों से मिलने के लिए बीजेपी के नेता पहुंचे लेकिन पुलिस प्रशासन ने उन्हें नियमों का हवाला देते हुए मिलने से साफ मना कर दिया जिसके बाद अभ्यर्थियों के एक प्रतिनिधिमंडल को बाहर बुलाकर बीजेपी के नेताओं से मिलवाया गया अभ्यर्थियों से मिलने के बाद भाजपा के नेताओं ने हेमंत सरकार पर जमकर आरोप लगाएं.

Also Read: BJP के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुबर दास के बयान से व्यपारियों में भड़का गुस्सा, जानिए ऐसा क्या बोल गए

बता दे कि 29 दिसंबर को हेमंत सरकार के 1 वर्षों का कार्यकाल पूरा हो रहा है इस दिन सरकार की तरफ से रांची के मोरहाबादी मैदान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है जिस वजह से वहां धारा 144 लागू कर दी गई है. धारा 144 लागू होने के कारण धरना दे रहे अभ्यर्थियों को खेल गांव में बने अस्थाई जेल में शिफ्ट किया जा रहा था तभी दोनों पक्षों के बीच तू-तू मैं-मैं की स्थिति उत्पन्न हो गई जिसके बाद पुलिस के द्वारा अभ्यर्थियों पर हल्की लाठियां भी बताई गई.

Also Read: हेमंत सरकार की पहली वर्षगांठ पर मोरहाबादी में आयोजित होगा कार्यक्रम, सीएम ने लिया जायजा

अभ्यर्थियों से मिलने पहुंचे रांची के विधायक और पूर्व मंत्री सीपी सिंह एवं हटिया विधायक नवीन जायसवाल के साथ पुलिस की भी नोकझोंक हुई बीजेपी नेताओं का कहना था कि अब व्यक्तियों से मुलाकात करना उनकी राजनीति जिम्मेदारी है लेकिन बार-बार जिला प्रशासन से अनुरोध करने के बावजूद भी बीजेपी नेताओं को अभ्यर्थियों से मुलाकात करने की अनुमति नहीं दी गई तो उन्होंने सरकार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे भी लगाए.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Related News

Popular Searches