Bhanu Pratap

भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने हेमंत सरकार पर साधा निशाना, बोले- 7 महीनो में कोई योजना नहीं दिखी

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

मधु कोडा सरकार में स्वास्थ्य मंत्री और वर्तमान में भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने राज्य की हेमंत सरकार पर निशाना साधा है. भानु प्रताप ने ट्वीट कर हेमंत सरकार को आड़े-हाथो लिया है.

Advertisement

ट्वीट करते हुए भानु प्रताप ने कहा कि सत्ता के सात दिन बहुत होते हैं आपके तो सात महीना हो गये. आज तक एक भी राज्य स्तर का विकास गिनवा दीजिए हम राजनीति छोड़ देंगे। तीन योजना केवल संचालित है 1.प्रधानमंत्री आवास 2.ग़रीबों का अनाज 3.मनरेगा तीनो काम केंद्र द्वारा चल रहे है. राज्य को आपने क्या दिया?

Also Read: RIMS में मंत्री के सामने फ़ोन पर बात करते दिखे लालू यादव, प्रतुल शाहदेव ने कहा कोरोना काल में सज रहा दरबार

भानु प्रताप शाही ट्विटर पर काफी सक्रिय है और वे लगातार राज्य की हेमंत सरकार से सवाल करते है. मालूम हो की 2019 विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उन्होंने अपनी पार्टी नौजवान संघर्ष मोर्चा का विलय कराते हुए बीजेपी का दामन थाम लिया था. शाही मधु कोड़ा की सरकार में स्वास्थ्य मंत्री भी रहे हैं.

Also Read: पटना AIIMS के बाहर पड़ा रहा कोरोना पॉजिटिव मरीज, तेजस्वी ने कहा बिहार को अब भगवान बचाए

बता दें की भानु प्रताप शाही पर आय से अधिक संपत्ति और दवा घोटाले के मामले चल रहे हैं. इस सिलसिले में वो जेल भी जा चुके हैं. साल 2003 में जेल से छूटने के बाद भानु प्रताप ने राजनीति में कदम रखा और अपनी पार्टी नौजवान संधर्ष मोर्चा बनाई. 2005 में भवनाथपुर सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीते भी, मधु कोड़ा की सरकार में भानु प्रताप को स्वास्थ्य मंत्री बनने का मौका मिला. लेकिन 2009 का चुनाव हार गये. बतौर स्वास्थ्य मंत्री इन पर सेल के चिकित्सक विजय राम के साथ मारपीट करने का मामला दर्ज हुआ. सरकारी काम में बाधा डालना और हरिजन एक्ट के इस मामला में इन्हें जेल भी जाना पड़ा।

Also Read: राजस्थान में सियासी हलचल के बीच, CM गहलोत के करीबियों पर आयकर विभाग की छापेमारी

2014 का चुनाव भी भानु प्रताप अपनी पार्टी नौजवान संघर्ष मोर्चा के टिकट पर ही लड़े और जीतकर एक बार फिर विधायक बने. उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी अनंत प्रताप देव को हराया. लेकिन 2019 का चुनाव आते-आते भानु प्रताप खुद बीजेपी के हो गये. अपनी पार्टी का विलय कराते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि जो गलती उन्होंने पहले की, आगे वैसी नहीं होगी. भानुप्रताप को शामिल कराने को लेकर बीजेपी विपक्ष के निशाने पर रही है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches