झारखंड में बन रही आठ लाइन सड़क निर्माण का कार्य सरकार ने रोका, जानिए सरकार की तरफ से क्या बताई गई वजह

Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on telegram
Share on reddit

झारखंड में बनने वाली पहली आठ लाइन सड़क निर्माण पर ग्रहण लग गया है. सरकार की ओर से जारी पत्र में फंड की कमी को आधार बनाकर अगले आदेश तक काम बंद करने का आदेश जारी कर दिया गया है।

धनबाद के गोल बिल्डिंग से कतरास के काको मोड़ तक सड़क निर्माण का कार्य किया जा रहा था। पिछले एक साल में लगभग 20 प्रतिशत काम भी पूरा कर लिया गया है। पाइप शिफ्टिंग और बिजली पोल शिफ्टिंग का काम अभी चल रहा था। ऐसे समय में सरकार ने काम बंद करने का आदेश देकर लोगों को चौंका दिया।

Also Read: ऑडियो विवाद पर भाजपा हमलावर, मंत्री आलमगीर आलम का मांगा जा रहा है इस्तीफा

सड़क का निर्माण दो एजेंसी मिलकर कर रही है। पहली एजेंसी शिवालया को गोल बिल्डिंग से बिनोद बिहारी चौक तक का काम वहीं दूसरी एजेंसी त्रिवेणी कंस्ट्रक्शन को दिया गया है। सरकार का आदेश मिलने के बाद दोनों ही एजेंसी ने काम बंद कर दिया है। आधी-अधूरी सड़क का काम बंद होने से कहीं कहीं अधूरा कल्वर्ट तो कहीं छड़ निकला हुआ रेलिंग रास्ते में दिखाई दे रहा है। 416 करोड़ की लागत से निर्माण कार्य किया जा रहा था.

Also Read: मोदी सरकार का बड़ा फैसला, RBI की निगरानी में अब होंगे सभी को-ऑपरेटिव बैंक

मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने आशंका जताई थी कि सरकार फंड को आधार बनाकर आठ लेन सड़क का काम रोक सकती है. पिछले महीने नगर निगम स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में आठ लेन सड़क को राशि कम होने पर डीएमएफटी फंड से पैसे देने का प्रस्ताव पास किया था। मेयर की अध्यक्षता वाली कमेटी ने डीएमएफटी फंड से पैसे देने का निर्णय लिया गया था।

Also Read: झामुमो ने भाजपा पर लगाया दोहरे चरित्र का आरोप कहा, अडानी ने चीन की कंपनी को जो ठेका दिया है उसे रद्द करे

यह सड़क सुव्यवस्थित और पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटल बिहारी बाजपेयी के नाम पर होनी थी। फरवरी 2021 तक काम पूरा होने का लक्ष्य रखा गया था। अब सरकार ने फंड की कमी का हवाला देते हुए निर्माण रोक दिया है। पूर्व मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल का कहना है कि सड़क निर्माण कर रहे स्टेट हाइवे अथॉरिटी ऑफ झारखंड (साज) के पास विश्व बैंक का 107 करोड़ और खुद का 30 करोड़ रुपये पड़ा हुआ है, ऐसे में काम रोकना समझ से परे है। जबकि पिछली स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में डीएमएफटी फंड से राशि खर्च करने की भी बात कही गई थी। काम रोकना सरकार की अदूरदर्शिता का परिचायक है। लगभग 18 फीसद काम हो चुका है।

Leave a Reply

In The News

मानसून सत्र में खाली रहेगी नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी, दलबदल मांगा गया है जवाब

झारखंड कि राजनीति में दलबदल का खेल कई सालो से चलता आ रहा है. उसी कड़ी में एक बार फिर…

विधायक अमर बोउरी का राज्य सरकार पर तंज, हेमंत सरकार का दलितों के साथ व्यवहार संतोषजनक नही

राज्य की हेमंत सरकार पर चन्दनक्यारी से बीजेपी विधायक अमर कुमार बाउरी ने बड़ा आरोप लगाया है. विधायक ने कहा…

एक साथ चार लोगो की हत्या, प्रेम प्रसंग में हत्या हुई या नहीं पुलिस कर रही जाँच

मंगलवार की सुबह झारखंड के गुमला जिला अंतर्गत डेंगरडीह नामक गाँव से दिल दहला देने वाली एक घटना सामने आई…

यूरिया खाद की कमी को दूर करे सरकार : संजय मेहता

यूरिया खाद की कमी को लेकर आप ने सरकार पर हमला बोला है। पार्टी के बरही विधानसभा प्रभारी एवं पूर्व…

सुदर्शन चैनल और उनके एंकर सुरेश पर बरियातू थाना में छात्रों द्वारा हुआ मुकदमा दर्ज

30 अगस्त को एमएसएफ के प्रदेश अध्यक्ष शाहबाज़ हुसैन एवं बरियातू और बड़ागयीं बस्ती के नौजवान द्वारा सुरेश चह्वाण ,…

30 सितंबर तक बढ़ा लॉकडाउन, मिल सकेंगी इन जगहों को छुट, परीक्षार्थियों के लिए खास इन्तेजाम

रांची: राज्य में बढ़ते COVID19 संकरण को देखते हुए राज्य सरकार ने शुक्रवार को लॉकडाउन की अवधि 30 सितंबर तक…

Get notified Subscribe To The News Khazana

Follow Us

Popular Topics

Trending

Related News

जोहार 😊

Popular Searches