wificall_1

ऑडियो विवाद पर भाजपा हमलावर, मंत्री आलमगीर आलम का मांगा जा रहा है इस्तीफा

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

मंगलवार को एक ऑडियो वायरल हुआ जिसे लेकर विपक्षी दल भाजपा और सत्ताधारी दाल झामुमो एवं कांग्रेस आमने-सामने है. राज्य के मुखिया और बरहेट से विधायक हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा व पाकुड़ के ठेकेदार शंभु भगत के बीच बातचीत का एक आडियो मंगलवार को सोशल मीडिया में वायरल हुआ. इस बातचीत में झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम की भी आवाज़ सुनी जा रही है.

Advertisement

दरअसल हुआ कुछ यूँ की ठेकेदार शंभु भगत के मोबाइल पर मंत्री आलमगीर आलम के मोबाइल से कॉल किया गया था। शंभु भगत उस कॉल को रिसीव नहीं कर पाया। बाद में ठेकेदार शंभु भगत ने कॉल बैक किया। शुरुआत में शंभु भगत की आलमगीर आलम से बातचीत हुई। शंभु भगत आलमगीर आलम को मामू कहकर संबोधित कर रहा है।

Also Read: झामुमो ने भाजपा पर लगाया दोहरे चरित्र का आरोप कहा, अडानी ने चीन की कंपनी को जो ठेका दिया है उसे रद्द करे

मंत्री ने फोन पर शंभु भगत को कहा कि बरहड़वा का कुछ लोग आया था। बरहड़वा वाले को छोड़ दीजिए। इसपर शंभु भगत कहता है कि पिछले साल तपन ने 40 लाख का नुकसान कर दिया। मंत्री कह रहे हैं कि आप कई जगह काम कर रहे हैं। बरहड़वा टोल टैक्स टेंडर छोड़ दीजिए। शंभु भगत कहता है कि वे राजमहल छोड़ने के लिए तैयार हैं.

बाद में मंत्री आलमगीर आलम अपने पास बैठे पंकज मिश्रा को फोन देते हैं तथा बात करने को कहते हैं। पंकज मिश्रा कहते हैं कि डिसिजन सर्वसम्मति से है। छोड़ दीजिए, लोकल करेगा। शंभु भगत कहता है कि 40 लाख का नुकसान हो चुका है। इसपर पंकज मिश्रा कहते हैं कि ले लीजिएगा तो चलाने नहीं देंगे, दिक्कत कर देंगे, हम रिक्वेस्ट कर रहे हैं।

Also Read: वैद्यनाथ-बासुकीनाथ मंदिर खुलवाने के लिए कोर्ट जा सकते है BJP सांसद निशिकांत दुबे, राज्य सरकार के निर्णय का इंतज़ार

इसपर शंभु भगत उग्र हो जाते हैं और कहते हैं कि आप नक्सलवादी जैसे बात कर रहे हैं। आपने गलत व्यवहार किया। आप ताकत का उपयोग लगा दीजिए। हम सरकार का रेवेन्यू बढ़ाने की बात कह रहे हैं। आप अपनी ताकत लगा लीजिए। आपको कोर्ट में ले जाएंगे। आपकी बात नहीं सुनेंगे। आप रोक लीजिए। हम चैलेंज करते हैं। कुछ देर तक दोनों में खूब बहस होती है। दोनों कोर्ट चलने की बात कहते हैं। इसके बाद बातचीत समाप्त हो जाती है.

ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम और पंकज मिश्रा सहित 11 के खिलाफ पर बरहड़वा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस प्रकरण में दो और प्राथमिकी दर्ज की गई है। यह दोनों प्राथमिकी विधायक प्रतिनिधि और मंत्री पर FIR दर्ज कराने वाले शंभु भगत के खिलाफ है।

Also Read: झारखंड किसी की जागीर नहीं, एक इंच भी गड्ढा खोदने नहीं दिया जाएगा- फुरकान अंसारी

इस विवाद में गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे भी कूद पड़े हैं। उन्होंने ट्वीट कर मुख्यमंत्री से मंत्री आलमगीर आलम से इस्तीफा लेने की मांग की है। साथ अब लगभग पूरी भाजपा ही ऑडियो विवाद में कूद पड़ी है और मंत्री आलमगीर आलम का इस्तीफा माँगा जा रहा है. इस्तीफा मांगने वालो में भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी, प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश के नाम शामिल है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Related News

Popular Searches