Vijay Hansdak

पाकुड़ और साहिबगंज से गुजरने वाली एक भी ट्रेन बंद हुई तो होगा आंदोलन- सांसद विजय हांसदा

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

राजमहल से झामुमो के इकलौते सांसद विजय हांसदा ने रेलवे मंत्री पियूष गोयल और महाप्रबंधक पूर्व रेलवे कोलकाता को एक पत्र लिखा है जिसमे उन्होंने कहा है की राजमहल संसदीय क्षेत्र के साहिबगंज और पाकुड़ जिला मुख्यालय में रेलवे स्टेशन है। इस रेल मार्ग की ओर ध्यान आकृष्ट किया जाए तो राजधानी के लिए मात्र एक ही ट्रेन आनंद विहार एक्सप्रेस इस मार्ग से होकर चलती है एवं अन्य नियमित ट्रेनों का जो लंबी दूरी तय करती है उसका ठहराव इन्हीं स्टेशनों में होती है।

Advertisement

Also Read: झारखंड में फिर एक बार होगा अँधेरा ! 18 घंटे हो सकती है बिजली की कटौती

इसके अतिरिक्त भी ट्रेन की आवश्यकता को देखते हुए मेरे द्वारा कई बार रेल मंत्रालय को मांग पत्र भी दिया जा चुका है। फिर भी इसकी पूर्ति ना कर जो ट्रेन इस मार्ग से चल रही है, उसे भी स्थाई रूप से रद्द करने की प्रक्रिया चल रही है।

  • ट्रेन नंबर 13119 / 13120 सियालदह आनंद विहार एक्सप्रेस
  • ट्रेन नंबर 13133/ 13134 सियालदह वाराणसी एक्सप्रेस
  • ट्रेन नंबर 53043 / 53044 हावड़ा राजगीर फास्ट पैसेंजर
  • ट्रेन नंबर 53063/53064 बर्दवान तीन पहाड़ पैसेंजर
  • ट्रेन नंबर 53417 / 53418 बर्दवान मालदा टाउन पैसेंजर
  • ट्रेन नंबर 53138 / 53137 बरहरवा रामपुरहाट पैसेंजर

Also Read: सड़क का निरीक्षण करने पहुंचे शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो कहा, 20 दिनों में शुरू होगा आवागमन

सांसद विजय हांसदा ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि उपरोक्त परिस्थिति में इस क्षेत्र की आम जनता विशेषकर साहिबगंज एवं पाकुड़ के लिए कितना कठिन रेल मार्ग होगा इसका अनुमान लगाया जा सकता है।ऐसी परिस्थिति में मेरा अनुरोध है कि उपरोक्त वर्णित सभी ट्रेनों का परिचालन यथावत रखना उचित होगा।

Also Read: बैद्यनाथधाम मंदिर व बासुकीनाथ को खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी

इस क्षेत्र की आम जनता की सुविधा के लिए राजधानी आवागमन के लिए ट्रेन उपलब्ध हो। यदि समय रहते इस दिशा में अविलंब कार्रवाई नहीं की जाती है तो इससे पिछड़े क्षेत्र का जनता के साथ अन्याय एवं सोतेला पन का व्यवहार प्रतीत होगा। कहीं ऐसा ना हो कि इस क्षेत्र की जनता अपनी मांगों के लिए सड़कों पर उतर आने एवं सभी यातायात पर प्रतिबंध लगने पर मजबूर हो जाए।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Related News

Popular Searches