Skip to content
Advertisement

Jharkhand School Of Excellence: हजारीबाग के सरकारी स्कूलों में अंग्रेगी माध्यम से होगी पढ़ाई, निजी स्कूलों से भी बेहतर सुविधा मिलेगी

Shah Ahmad

Jharkhand School Of Excellence: झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार अपने एक और वादा पूरा करने जा रही है. राज्य भर के 80 विद्यालयों को उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में बदल दिया गया है, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 2 मई को सभी 80 विद्यालयों का उद्घाटन एक साथ करेंगे जिसमें हजारीबाग जिले के भी 4 विद्यालय शामिल है.

हजारीबाग (Hazaribagh School of Excellence) जिले के चार सरकारी स्कूलों में अब निजी स्कूलों की तरह पढ़ाई होगी. इसको लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जिले में चार उत्कृष्ट स्कूल भवन का उद्घाटन सह नामांकन प्रक्रिया का शुभारंभ मंगलवार दो मई, 2023 को रांची से ऑनलाइन करेंगे. इसके साथ ही इन चारों स्कूलों में निजी स्कूलों की तरह सीबीएसई पाठ्यक्रम के आधार पर विद्यार्थी पढ़ाई करेंगे.

Jharkhand School Of Excellence: उद्घाटन के साथ ही नामांकन प्रक्रिया होगी शुरू, जिले के इन विद्यालयों को मिली है मान्यता

प्लस टू गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल सभागार से शिक्षा विभाग के अधिकारी मुख्यमंत्री कार्यक्रम से जुड़ेंगे. शहर के प्लस टू जिला स्कूल, प्लस टू गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल, बरही अनुमंडल में मॉडल स्कूल (बरही) एवं चुरचू प्रखंड में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय (चुरचू) उत्कृष्ट स्कूल (स्कूल ऑफ एक्सीलेंस) घोषित है. अब इन स्कूलों में निजी विद्यालयों की तरह सीबीएसई आधारित विद्यार्थी पढ़ाई करेंगे.

इसे भी पढ़े- Jharkhand School of Excellence के तहत 80 विद्यालयों ने लिया आकार, मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन कल करेंगे उद्घाटन

वर्ष 2021 में उत्कृष्ट स्कूल बनने के बाद दो वर्षों में रख-रखाव, बेहतर क्लास रूम, लाइब्रेरी, शिक्षक सदन, हॉल, प्राचार्य भवन अन्य कई विकास कार्य चालू स्कूल में किए गए हैं. इस पर करोड़ों रुपये खर्च हुए. इन स्कूलों में सत्र 2023-24 से कक्षा छह से आठवीं तक विद्यार्थियों का नामांकन कार्य 28 अप्रैल से शुरू है. इसे सात मई तक पूरा किया जायेगा. अगले सत्र 2024-25 में सभी चार स्कूलों में कक्षा एक से पढ़ाई होगी.

इस संबंध में प्रभारी प्राचार्य विजय कुमार सिंह ने बताया कि प्लस टू जिला स्कूल 9.56 एकड़ एरिया में फैला है. इसमें स्कूल, छात्रावास के आलावा बड़ा खेल मैदान है. इसकी स्थापना वर्ष 1885 में हुई. पहले स्कूल के नाम 36 एकड़ एरिया था. इसमें सरकारी बीएड कॉलेज, पुलिस हॉस्टल एवं हरिजन छात्रावास बनाया गया है. बता दें कि राज्य में 80 उत्कृष्ट विद्यालय भवन का उद्घाटन सह नामांकन प्रक्रिया का शुभारंभ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन करेंगे.

इसे भी पढ़े- Jharkhand Teacher Vacancy: झारखंड में 26 हजार शिक्षकों की नियुक्त का रास्ता साफ, लंबे समय बाद राज्य में इतनी बड़ी भर्ती

Advertisement
Jharkhand School Of Excellence: हजारीबाग के सरकारी स्कूलों में अंग्रेगी माध्यम से होगी पढ़ाई, निजी स्कूलों से भी बेहतर सुविधा मिलेगी 1