Skip to content
Advertisement

झारखंड में शराब बेचने के लिए नहीं मिल रही प्लेसमेंट एजेंसी, जेएसबीसीएल मार्च से ही जारी कर रहा है टेंडर पुरानी व्यवस्था बनाए रखने पर हो रहा विचार

Divya Kumari

वित्तीय वर्ष 2022 – 23 वर्ष में राज्य में शराब बेचने के लिए चयनित प्लेसमेंट एजेंसी की कार्यविधि 30 अप्रैल को समाप्त हो जाएगीl नए एजेंसी को 1 मई से शराब बेचना है ,लेकिन झारखंड राज्य रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड जेएसबीसीएल को अब भी नहीं प्लेसमेंट एजेंसी की तलाश हैl इधर, राज्य में खुदरा शराब बेचने के लिए 24 जिलों में 10 जोन में बांटा गया है ,पर इनमें से अब तक 2 जून के लिए ही प्लेसमेंट एजेंसी का चयन हो पाया है l नई प्लेसमेंट एजेंसी चुनने के लिए जेएसबीसीएल मार्च से ही टेंडर जारी कर रहा है lइसके बावजूद या तो एजेंसी या टेंडर में रुचि नहीं ले रही या फिर जिन एजेंसियों ने भरा था, वह प्रावधान के अनुरूप नहीं हैंl

जेएसबीसीएल ने विभाग को कराया अवगत:

जेएसबीसीएल ने प्लेसमेंट एजेंसी के चयन को लेकर अब तक हुई प्रक्रिया से उत्पादन एवं मद्य निषेध विभाग को अवगत करा दिया है lअब इस मामले में विभाग के स्तर से अंतिम निर्णय लिया जाएगा lजेएसबीसीएल द्वारा विभाग को दी गई जानकारी में अब तक हुए टेंडर वैकेंसी के बारे में बताया गया हैl

Also read: Jharkhand Mukti Morcha ने केन्द्रीय संस्थानों पर औपचारिक सूचना को जारी नहीं करने का लगाया आरोप

पुरानी व्यवस्था बनाए रखने पर विचार

राज्य में वर्तमान में चार एजेंसी को खुदरा शराब बेचने की जिम्मेदारी दी गई हैl इनमें सुमित फैसिलिटी, ए टू – जेड इंफ्रास्ट्राइकर, ईगल हंटर सोल्यूशन्यू लिमिटेड व प्राइम वन कंपनी शामिल है lनई व्यवस्था लागू होने तक इन एजेंसियों को ही शराब बेचने की जिम्मेदारी दी जा सकती हैl

एजेंसी का बैंक गारंटी हुई जब्त

शर्त के अनुरूप शराब नहीं बेच पाने के कारण प्लेसमेंट एजेंसी की 44 करोड़ की बैंक गारंटी की राशि जब्त कर ली गई हैl राजस्व के नुकसान के आकलन के बाद जेएसबीसीएल द्वारा 448 करोड़ का सर्टिफिकेट केस भी किया गया हैl

Also read: Jharkhand ED Raid: झारखण्ड में चपरासी से पदाधिकारियों तक कर रहा असहज

Advertisement
झारखंड में शराब बेचने के लिए नहीं मिल रही प्लेसमेंट एजेंसी, जेएसबीसीएल मार्च से ही जारी कर रहा है टेंडर पुरानी व्यवस्था बनाए रखने पर हो रहा विचार 1