20200727_095223

झारखंड में कोरोना से पहले पुलिसकर्मी की गई जान, रांची में था तैनात

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

कोरोना काल में फ्रंटलाइन पर लोगो की सुरक्षा में लगे जवानो पर भी कोरोना कहर बनाकर टूट पड़ा है. झारखंड में अब तक लगभग 477 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हो चुके है, परन्तु राहत की बात यह रहती थी की वे जल्द ठीक भी हो जाते थे. लेकिन रविवार को एक ऐसी खबर सामने आई जिसने सभी को चौका दिया। रविवार को झारखंड में कोरोना से पहले पुलिसकर्मी की जान चली गयी.

Advertisement

Also Read: 29 को नहीं चलेगी हावड़ा-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, जानिए क्यों हुआ ऐसा

जैप 2 में तैनात था मृत पुलिसकर्मी:

झारखंड में कोरोना की वजह से जिस पहले पुलिसकर्मी की मौत हुई है वो रांची के टाटीसिलवे स्थित जैप टू मैं पोस्टेड थे. पुलिसकर्मी की मौत के बाद जैप टू को तत्काल सील कर दिया गया है। वहां के पुलिस कर्मियों को फिलहाल होम क्वॉरेंटाइन रहने का निर्देश दिया गया है। मृत पुलिसकर्मी सब इंस्पेक्टर था. बीते 16 जुलाई से कोरोना के लक्षण दिखाई दे रहा था। संक्रमण के बीच 18 जुलाई को उनके कार्यालय में उन्हें कोविड-19 टेस्ट कराने की सलाह दी गई थी। हालांकि उन्होंने इसे सामान्य सर्दी खांसी और वायरल बता अनदेखा किया।

Also Read: झारखंड का नया DGP कौन? राज्य सरकार ने UPSC को भेजे है इनके नाम

बिहार का रहने वाला था मृत सब इंस्पेक्टर:

राज्य में पहले पुलिसकर्मी की मौत कोरोना वायरस की वजह से हो गई है. कोरोना वायरस की वजह से जान गवाने वाला सब इंस्पेक्टर मूलरूप से बिहार के आरा के रहने वाले थे। सब इंस्पेक्टर के संक्रमित मिलने के बाद उनकी पत्नी को भी जगन्नाथपुर के कुटे स्थित क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया है। डॉक्टरों के अनुसार सब इंस्पेक्टर को निमोनिया की भी शिकायत थी। कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद वह घबराए हुए थे।

Also Read: MGM की लापरवाही आई सामने, कोरोना मरीज के बेड पर हुआ दो भाइयो का इलाज, हुए संक्रमित

झारखंड पुलिस एसोसिएशन की मांग 50 लाख मुआवजा मिले:

संक्रमित सब इंस्पेक्टर की मौत के बाद झारखंड पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेंद्र सिंह ने मृतक के परिवार को 50 लाख मुआवजा की मांग की है। 50 लाख देने में सक्षम नहीं रहने की स्थिति में सरकार से उग्रवादी घटना में शहीद पुलिस कर्मियों को मिलने वाली सारी सुविधाएं देने की मांग की गई है। चूंकि पुलिस कर्मी कोरोना वारियर्स के रूप में संक्रमण फैलने के लिए सामने से लड़ रहे हैं। पुलिसकर्मी की मौत के बाद पुलिसकर्मियों में दहशत फैल गया है।

Also Read: हजारीबाग सेंट जेवियर स्कूल के छात्र पहुँचे हाईकोर्ट, निष्कासन के खिलाफ दायर की गई याचिका

राज्‍य में अब तक 477 पुलिसकर्मी संक्रमित:

शुक्रवार तक राज्य में कोरोना कुल 477 पुलिस पदाधिकारी व कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। इनमें एक एएसपी, एक डीएसपी, पांच इंस्पेक्टर. 41 एसआई, 51 एएसआई, एवं चार आशु एएसआई, एक अवर सचिव, एक प्रधान लिपिक, 36 हवलदार, 265 आरक्षी/चालक, 17 चतुर्थवर्गीय कर्मचारी एवं 15 गृहरक्षक संक्रमित हैं। हालांकि अबतक 39 पुलिस पदाधिकारी व कर्मी कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके है।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches