Skip to content

बिहार में बिहारी तो झारखंड में झारखंडी व्यक्ति को नौकरी में प्राथमिकता क्यों नहीं: जगरनाथ महतो Jagarnath Mahato

Shah Ahmad

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahato) ने कहा है कि बिहार में बिहारी तो झारखंड में झारखंडी व्यक्ति को नौकरी में प्राथमिकता क्यों नहीं। उन्होंने स्थानीय युवाओं से अपील की कि स्थानीय नीति का लाभ के लिए आपको मेहनत करना होगा। इस नीति का फायदा उठाने के लिए पढ़ाई आवश्यक है। इसके लिए नियमित स्कूल-कालेज आना होगा। इसके बगैर नौकरी संभव नहीं है।

Advertisement

उन्होंने कहा कि जल्द ही सरकार 50 हजार शिक्षकों की नियुक्ति करने जा रही है। इसके बाद विद्यालयों में पर्याप्त शिक्षक हो जाएगा। वे बुधवार को जगरनाथ महतो इंटर कॉलेज, मंझलाडीह में आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि झारखंड में 80 मॉडल स्कूल जिला और प्रखंड स्तर पर संचालित होंगे। इन विद्यालयों में खोरठा, आदिवासी, संताली जैसी जनजातीय भाषा की पढ़ाई होगी। इन विषयों की पढ़ाई होने से झारखंडियों को सुलभता से नौकरी मिल पाएगी।

इसे भी पढ़े- JAC बोर्ड का बड़ा फैसला, 8वीं से लेकर इंटर की परीक्षा देने वालों की बल्‍ले-बल्‍ले

झारखंड वासियों को 100 यूनिट मुफ्त बिजली मिल रही है:

उन्होंने कहा कि पढ़ाई में बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्रों को तो सरकार पुरस्कृत कर ही रही है, शिक्षकों के लिए भी बहुत अच्छा पुरस्कार उन्होंने सोच कर रखा है, जल्द ही बेहतर कार्य करने वाले शिक्षकों को पुरस्कृत किया जाएगा। मंत्री ने कहा कि राज्य में 100 यूनिट तक बिजली माफ है। ऐसे में सभी से अनुरोध है कि वे इसका दुरुपयोग न करें। दिन में बल्ब न जलाएं, बिजली बचाने का प्रयास करें। डीवीसी झारखंड में बिजली की कटौती कर यहां के लोगों को परेशान करने का काम कर रहा है। मैंने उसे पहले भी चेताया है कि झारखंड में एक भी पावर प्लांट को नहीं चलने दिया जाएगा।

इसे भी पढ़े- पूर्व मंत्री योगेंद्र साव का दावा, रघुवर दास ने क्रॉस वोटिंग के लिए दिया था 5 करोड़ का ऑफर

Leave a Reply