Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

कोरोना वायरस के कहर के बीच योगगुरू बाबा रामदेव ने कोरोना वायरस की आयुर्वेदिक दवा बनाने का दावा किया है. पतंजलि के योगगुरु रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इसका एलान किया है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रायल में शामिल रहे वैज्ञानिक, डॉक्टर, रिसर्चर भी मौजूद रहे. कोरोना वायरस को मात देने वाली इस आर्युवेदिक दवा का नाम कोरोनिल दिया गया है.

Also Read: वैद्यनाथ-बासुकीनाथ मंदिर खुलवाने के लिए कोर्ट जा सकते है BJP सांसद निशिकांत दुबे, राज्य सरकार के निर्णय का इंतज़ार

रामदेव ने कहा कि संपूर्ण साइंटिफिक डॉक्यूमेंट के साथ श्वासारि वटी, कोरोनिल, कोरोना की एविडेंस बेस्ड पहली आयुर्वेदिक औषधि है. पतंजलि के मुताबिक, यह रिसर्च संयुक्त रूप से पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट (पीआरआई) हरिद्वार, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (NIMS), जयपुर द्वारा किया गया है. दवा का निर्माण दिव्य फार्मेसी, हरिद्वार और पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड, हरिद्वार के द्वारा किया जा रहा है.

Also Read: झारखंड किसी की जागीर नहीं, एक इंच भी गड्ढा खोदने नहीं दिया जाएगा- फुरकान अंसारी

आचार्य बालकृष्ण ने कहा, आज पतंजलि परिवार के लिए बहुत बड़ा दिन है. मानवता की सेवा में विनम्र प्रयास पूरा होने की खुशी आप सब से साझा करते हुए अत्यंत हर्ष का अनुभव हो रहा है. पतंजलि के सभी वैज्ञानिकों NIMS यूनिवर्सिटी के डॉक्टर बलवीर सिंह जी व सभी डॉक्टरों को बधाइयां आपका प्रयास आज साकार हो रहा है आयुर्वेद अब अपने अतीत के वैभव को प्राप्त कर शक्ति संपन्न बनेगा.

बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलि सेवा का दूसरा नाम है यह शब्दों से नहीं कर्मों से झलकता है. रामदेव का नेतृत्व हमें ऊर्जा देता है, सृजन तो परमात्मा की कृपा है, हम तो निमित्त मात्र हैं.

Leave a Reply