Skip to content
20200802_132325

योगी सरकार की तकनिकी शिक्षा मंत्री का कोरोना से निधन, अस्पताल में थी भर्ती

News Desk

उत्तर प्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में तकनिकी शिक्षा मंत्री कमला रानी की कोरोना वायरस की वजह से जान चली गई. राज्य में किसी मंत्री की पहली मौत कोरोना की वजह से हुई है. पिछले 15 दिनों से मंत्री कमला रानी अस्पताल में भर्ती थी जहाँ उनका इलाज चल रहा था.

Advertisement
योगी सरकार की तकनिकी शिक्षा मंत्री का कोरोना से निधन, अस्पताल में थी भर्ती 1

Also Read: मोदी सरकार आपके खाते में डालने वाली है 2000 रुपये, ऐसे चेक करें अपना स्टेटस

कौन थी कोरोना से जान गवाने वाली कमला रानी:

मृत मंत्री कमला रानी का सियासी सफर बड़ा ही रोचक रहा है. 3 मई 1958 को कमला रानी वरुण का जन्म लखनऊ में हुआ था. कमला रानी के पति LIC एक प्रशासनिक अधिकारी थे. जिनका नाम किसान लाल वरुण था. वे संघ से जुड़े हुए थे. कमला रानी का सियासी सफर साल 1989 में शुरू हुआ जब बीजेपी ने पहली बार उन्हें कानपुर के द्वारिकापुरी वार्ड से पार्षद का टिकट दिया और वो जीत कर नगर निगम पहुँचने में कामयाब हुए. 1995 में वो दूसरी बार वार्ड पार्षद चुनी गई.

Also Read: नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की सुरक्षा में तैनात 4 जवान कोरोना पॉजिटिव

लगातार दो बार वार्ड पार्षद का चुनाव जितने वाली कमला रानी को बीजेपी ने 1996 में सांसद का टिकट दिया और घाटमपुर संसदीय सीट से चुनावी मैदान में उतारा। एक बड़ी जीत के साथ वो लोकसभा पहुँचने में कामयाब रही. कमलरानी ने1998 में भी दोबारा उसी सीट से जीत दर्ज की थी। लेकिन वो 1999 का चुनाव हार गई थी.

Also Read: One Nation One Ration कार्ड योजना में शामिल हुए ये 4 राज्य

अन्य बीमारियों से थी ग्रसित:

मंत्री कमला रानी अन्य बीमारियों की भी शिकार थी. उन्हें पहले से ही हाइपरटेंशन और डायबिटीज और थायराइड की बीमारी थी. पिछले 15 से कमला रानी अस्पताल में भर्ती थी. वो कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी, साथ ही उनका बेटा भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. शनिवार को उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया था. पिछले 3 दिनों से कमला रानी की हालत ज्यादा ख़राब थी उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. रविवार सुबह 9 बजे उन्होंने अंतिम साँस ली.

Advertisement

Leave a Reply