Skip to content
Ed6aJxzUMAEae46

केंद्र सरकार पर बन्ना गुप्ता का हमला बोले- संविधान और प्रजातंत्र और प्रजातांत्रिक संस्थाओं को बचाना जरुरी

News Desk

राजस्थान में हुई सियासी उठा-पटक के बाद कांग्रेस केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर है. कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर सभी राज्यों की प्रदेश इकाई राजभवन के समक्ष धरना-प्रदर्शन कर रहे है. और केंद्र की भाजपा सरकार पर प्रजातंत्र और प्रजातांत्रिक संस्थाओं को ख़त्म करने का आरोप लगा रहे है.

Advertisement
केंद्र सरकार पर बन्ना गुप्ता का हमला बोले- संविधान और प्रजातंत्र और प्रजातांत्रिक संस्थाओं को बचाना जरुरी 1

Also Read: झारखंड में कोरोना से पहले पुलिसकर्मी की गई जान, रांची में था तैनात

झारखंड कांग्रेस का राजभवन के समक्ष धरना:

केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ झारखंड कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सह झारखंड सरकार में मंत्री रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में धरने राजभवन के समक्ष धरना दिया। धरने में मंत्री बन्ना गुप्ता, मंत्री आलमगीर आलम समेत अन्य नेता शामिल हुए। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि संविधान बचाओ-लोकतंत्र बचाओ की मांग को लेकर धरना दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्यों में भाजपा लोकतंत्र की हत्या कर रही है।

Also Read: झारखंड का नया DGP कौन? राज्य सरकार ने UPSC को भेजे है इनके नाम

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का केंद्र सरकार पर तंज:

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता भी राजभवन के समक्ष आयोजित धरना प्रदर्शन में शामिल हुए. स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार पर तंज कस्ते हुए कहा कि केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर केंद्र सरकार के अलोकतांत्रिक गतिविधियों और भारत के संविधान और प्रजातंत्र और प्रजातांत्रिक संस्थाओं को बचाने की जरुरत है. भाजपा संविधान को खत्म करना चाहती है.

Also Read: मिसाइल मैन अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि आज, जानिए उनकी जिंदगी से जुड़ी 10 खास बातें

भाजपा का लोकतंत्र और लोकशाही पर से विश्वास उठ गया है: रामेश्वर उरांव

रविवार को प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डॉक्टर रामेश्वर उरांव ने कहा कि भाजपा का लोकतंत्र और लोकशाही पर से विश्वास उठ गया है। यही कारण है कि भाजपा के द्वारा लगातार प्रजातांत्रिक मूल्यों और संवैधानिक संस्थाओं पर चोट पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। पहले मध्यप्रदेश में 23 निर्वाचित विधायकों को इस्तीफा दिलवा कर सरकार अपदस्थ किया गया। वह भी वैश्विक महामारी कोरोना काल में और अब राजस्थान की जनता के द्वारा भाजपा के कुशासन के विरुद्ध चुनी गई बहुमत की कांग्रेस की सरकार को गिराने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी इसका कड़ा विरोध करती है।

Also Read: 29 को नहीं चलेगी हावड़ा-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, जानिए क्यों हुआ ऐसा

कांग्रेस नेताओं के हाथों में तख्तियां:

धरने के दौरान मंत्रियों और कांग्रेस नेताओं के हाथों में तख्तियां थी जिसमें लिखा था ‘प्रजातंत्र बेड़ियों में है और देश खतरे में है’, ‘क्या वोट के शासन के मायने नहीं है, अगर नहीं तो मिलकर आवाज उठाएंगे’, ‘राजस्थान में फ्लोर टेस्ट नहीं कराएंगे क्योंकि विधायक कांग्रेस के साथ हैं’, ‘क्या बहुमत दिल्ली के हाथों की कठपुतली है’, ‘कब तक जनमत का चीरहरण करोगे..?’ इस दौरान कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि भारत के संविधान और प्रजातंत्र एवं प्रजातांत्रिक संस्थाओं को बचाने के लिए एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया जा रहा है।

Advertisement

Leave a Reply