Nagendra BDO

रेलवे ट्रैक पर मिला देवघर के पालाजोरी प्रखंड के बीडीओ नागेंद्र तिवारी का शव, हत्या या आत्महत्या जाँच में जुटी पुलिस

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

देवघर जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है. जिला के पालाजोरी प्रखंड के बीडीओ नागेंद्र तिवारी की जमशेदपुर में रेलवे ट्रैक पर लाश मिली है। डीएसपी लॉ एंड आर्डर आलोक रंजन मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल में जुट गए।

Advertisement

Also Read: पटना AIIMS के बाहर पड़ा रहा कोरोना पॉजिटिव मरीज, तेजस्वी ने कहा बिहार को अब भगवान बचाए

मृतक बीडीओ नागेंद्र तिवारी के रिश्तेदार ने कहा है कि पालाजोरी मुखिया संघ के अध्यक्ष दाउद आलम नागेंद्र तिवारी को मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे। दाउद ने मुख्यमंत्री से उनकी शिकायत की थी कि वे मनरेगा में ठीक तरीके काम नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मनरेगा में मेरे चाचा (नरेंद्र तिवारी) लगातार अच्छा काम कर रहे थे लेकिन दाउद आलम इसका विरोध कर रहे थे जिसके चलते नागेंद्र तिवारी मानसिक रूप से प्रताड़ित होकर 15 दिन पहले यहां आ गए थे।

Also Read: RIMS में मंत्री के सामने फ़ोन पर बात करते दिखे लालू यादव, प्रतुल शाहदेव ने कहा कोरोना काल में सज रहा दरबार

सुमित (नागेंद्र तिवारी का भतीजा) ने बताया कि रविवार सुबह नाश्ता वगैरह करके चाचा मंदिर जाने की बात कहकर घर से निकले थे। देर शाम तक वे घर नहीं लौटे थे। इसके बाद सुरेंद्र व अन्य परिजन थाना में रिपोर्ट लिखाने पहुंचे तो उन्हें जानकारी दी गई कि रेलवे ट्रैक पर एक लाश मिली है। हमलोगों ने सोमवार सुबह उनकी पहचान की।

Also Read: भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने हेमंत सरकार पर साधा निशाना, बोले- 7 महीनो में कोई योजना नहीं दिखी

नागेंद्र तिवारी अविवाहित थे और वे पालाजारी प्रखंड में प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) सह अंचालाधिकारी के पद पर तैनात थे। वे पिछले 15 दिनों से जुगसलाई थाना क्षेत्र के साकची जेल चौक के पास रहने वाले अपने बड़े भाई सुरेंद्र तिवारी के साथ रह रहे थे। रविवार शाम जुगसलाई के दुखु मार्केट के पास रेलवे ट्रैक पर उनकी लाश मिली।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches