झारखंड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स ने JBVNL द्वारा प्रस्तावित बिजली दरों का विरोध किया

फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (FJCCI) ने सोमवार को टैरिफ प्रस्तावों से जुड़ी ऑडिट रिपोर्ट के आधार पर वर्ष 2020-21 के लिए झारखंड बिजली विट्रान निगम लिमिटेड (JBVNL) द्वारा प्रस्तावित बिजली दरों का विरोध किया।

मीडिया को संबोधित करते हुए एफजेसीसीआई के ऊर्जा उप-समिति के अध्यक्ष बिनोद कुमार तुलस्यान और उप-समिति के सदस्य अजय भंडारी ने कहा कि जेबीवीएनएल खातों की ऑडिट रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि इस पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

Also Read: लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में तैनात ASI पाया गया कोरोना पॉजिटिव, भेजा गया क्वॉरेंटाइन सेंटर

इससे पहले, राज्य के स्वामित्व वाली पावर डिस्कॉम ने फरवरी में झारखंड राज्य विद्युत नियामक आयोग (JSERC) को अपने प्रस्ताव सौंपे थे। बिजली नियामक ने अपनी वेबसाइट पर टैरिफ को सार्वजनिक दृश्य के लिए अपलोड किया है और सुझाव भी मांगे हैं।

हालांकि, जेएसईआर कोविद -19 महामारी के कारण नए टैरिफ की घोषणा करने से पहले अनिवार्य सार्वजनिक सुनवाई नहीं कर सका। FJCCI का विचार था कि JBVNL अपने ग्राहकों को विश्वसनीय बिजली देने में विफल रहा है और अब उनके खाते भी विश्वसनीय नहीं थे।

Also Read: झाविमो से भाजपा में गए नेताओं को नई प्रदेश कमिटी में तरजीह नहीं ! भितरखाने जारी है मंथन का दौर

तुलस्यान ने कहा कि औद्योगिक इकाइयों को लगभग 20 घंटे बिजली की आपूर्ति मिल रही थी, लेकिन निर्धारित शुल्क की गणना 24 घंटे की बिजली आपूर्ति के आधार पर की जा रही थी। “हमें क्यों निर्बाध शक्ति की मांग नहीं करनी चाहिए,” उन्होंने सवाल किया। उन्होंने कहा कि जेबीवीएनएल ने घरेलू श्रेणी में री प्रति यूनिट बढ़ोतरी और वाणिज्यिक उपयोगकर्ताओं के लिए 75 पैसे प्रति यूनिट बढ़ोतरी प्रस्तावित की है।

Also Read: भाजपा द्वारा जंगलराज के आरोपो पर मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा, भाजपा से किसी सर्टिफिकेट की जरुरत नहीं

भंडारी ने कहा कि ट्रांसमिशन ग्रिड से जुड़े खुले कंडक्टर अक्सर बिजली कटौती का कारण बनते हैं, जिसके परिणामस्वरूप औद्योगिक इकाइयों के निर्माण में रुकावट आती है। उन्होंने यह भी सवाल किया कि 2015 में शून्य पर बिजली खरीद के खिलाफ दामोदर घाटी निगम (डीवीसी) पर जेबीवीएनएल का ऊर्जा बकाया पिछले पांच वर्षों में 5,760 करोड़ रुपये तक कैसे पहुंच गया। FJCCI का विचार था कि झारखंड में बिजली वितरण और आपूर्ति एक सक्षम अधिकारी को एक पेशेवर दृष्टिकोण और जवाबदेही के लिए सौंप दी जानी चाहिए।

विकास दुबे पर ढाई लाख का इनाम, पुलिस ने कहा सही जानकारी देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी

कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने सोमवार को न्यूज एजेंसी को बताया कि, ‘विकास दुबे पर अब ढाई लाख रूपये का इनाम घोषित कर दिया गया है. इस आशय का एक प्रस्ताव पुलिस महानिदेशक को भेजा गया था जहां से इनाम की राशि बढ़ाने की मंजूरी मिलने के बाद सोमवार को इनामी रकम बढ़ा दी गई है.’

Also Read: पटना में तेज हुई कोरोना संक्रमण की रफ़्तार कंटेनमेंट जोन की संख्या पहुंची 83

अग्रवाल ने बताया कि, जो व्यक्ति दुबे के बारे में सही जानकारी देगा उसे न केवल इनाम दिया जायेगा बल्कि उसकी पहचान भी गुप्त रखी जाएगी. पूरे प्रदेश के टोल नाकों पर दुबे के पोस्टर लगाने के लिए भी कहा गया है ताकि अगर वह किसी टोल नाके से निकलता है तो उसके बारे में जानकारी मिल सके.

Also Read: चतरा सांसद प्रतिनिधि की गोली मार कर हत्या, प्रतुल शाहदेव ने कहा जंगलराज की हो गयी है वापसी

दुबे की तलाश में 40 पुलिस थानों की 25 टीमें लगायी गई हैं जो दिन रात पूरे प्रदेश के विभिन्न जिलों में छापेमारी कर रही हैं. इसके अलावा कुछ टीमें दूसरे प्रदेशों को भी भेजी गई हैं. जल्द ही अच्छी खबर मिलने की उम्मीद है.’ पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस के निगरानी दल की नजरें दुबे के करीबियों के मोबाइल पर लगातार बनी हुई है और उससे कोई भी नाता रखने वाला हर व्यक्ति पुलिस रडार पर है.

Also Read: CM नितीश कुमार 7 अगस्त से करेंगे बिहार के चुनाव प्रचार अभियान की वर्चुअल शुरूआत, 10 लाख लोगों तक पहुँचने का हैं लक्ष्य

गौरतलब है कि बृहस्पतिवार देर रात कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव निवासी दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया था जिसमें एक क्षेत्राधिकारी समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे. मुठभेड़ में पांच पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक आम नागरिक घायल हुए हैं. घटना के बाद से पुलिस को दुबे का कोई सुराग नहीं मिला है.

भाजपा द्वारा जंगलराज के आरोपो पर मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा, भाजपा से किसी सर्टिफिकेट की जरुरत नहीं

चतरा सांसद प्रतिनिधि सह लातेहार भाजपा जिला महामंत्री जयवर्धन सिंह की अज्ञात अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी है. घटना 5 जुलाई रात 8 बजे के लगभग घटी है. अपराधीयो ने पीछे पीठ और गर्दन के पास सटा कर गोली मार दी. जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गयी.

Also Read: झाविमो से भाजपा में गए नेताओं को नई प्रदेश कमिटी में तरजीह नहीं ! भितरखाने जारी है मंथन का दौर

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने लातेहार जिला में भाजपा के जिला महामंत्री जयवर्धन सिंह की हत्या पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि झारखंड में जंगलराज वापस आ गया है. उन्होंने कहा कि राज्य में विधि व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गयी है. यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. राज्य में पिछले 6 महीने में नक्सली और आपराधिक घटनाओं में अप्रत्याशित रूप से वृद्धि हुई है.

Also Read: चतरा सांसद प्रतिनिधि की गोली मार कर हत्या, प्रतुल शाहदेव ने कहा जंगलराज की हो गयी है वापसी

प्रतुल शाहदेव और भाजपा द्वारा हेमंत सरकार में जंगलराज की वापसी की बात पर पलटवार करते हुए हेमंत सरकार में पेयजल मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा है कि भाजपा से हमें किसी सर्टिफिकेट की जरुरत नहीं है जनता ने भाजपा को आईना दिखा दिया है. राज्य के खजाने को खाली करने वाली भाजपा दुसरो को सर्टिफिकेट देने निकली है. पूर्व की भाजपा में सरकार में किस तरह से लौट हुई है वो धीरे-धीरे सामने आ रहा है.

Also Read: शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने फिर दोहराया 1932 खतियान की बात, कहा झारखंडी कौन यह 1932 का खतियान तय करेगा

आगे मिथिलेश ठाकुर ने कहा राज्य का खजाना खाली होने और ऊपर से कोरोना की मार के बावजूद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में राज्य नए रिकॉर्ड स्थापित कर रहा है. झारखंड आज देश के उन 10 राज्यों में शामिल हो चूका है जिनमे कोरोना के मरीज सबसे ज्यादा ठीक हो रहे है. सिमित संसाधनों के साथ हमने ये हासिल किया है. लेकिन भाजपा सिर्फ विरोध करना जानती है.अच्छे काम उन्हें नहीं दीखते है.

Also Read: नक्सली मोहन यादव की गोली मारकर हत्या, वर्चस्व की लड़ाई में गयी जान

लातेहार की घटना पर बोलते हुए मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा जिन अपराधियों में घटना को अंजाम दिया है उनपर कठोर कार्रवाई की जाएगी। मृत आत्म के साथ हमारी पूरी संवेदना है. लेकिन भाजपा ओछी राजनीती करना बंद करे और विकास की राजनीती करे.

पटना में तेज हुई कोरोना संक्रमण की रफ़्तार कंटेनमेंट जोन की संख्या पहुंची 83

पटना जिले में कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 83 पहुंच गई है। इस प्रतिबंधित क्षेत्र में 44 हजार 442 लोग रह रहे हैं। जिले में पहले 67 कंटेनमेंट जोन थे जिसमें 16 का इजाफा हुआ है।

जिला प्रशासन ने जहां भी कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं उसे प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर दिया है। वर्तमान समय में जो कंटेनमेंट जोन है उसमें पटना सिटी अनुमंडल क्षेत्र में 17, पटना सदर में 35 ,दानापुर में 17, मसौढ़ी में छह तथा पालीगंज में 8 जोन बनाए गए हैं । कंटेनमेंट जोन में अवस्थित घरों की कुल संख्या 9 हजार 850 तथा कंटेनमेंट जोन में वर्तमान समय 44 हजार 442 लोग रह रहे हैं।

Also Read: CM नितीश कुमार 7 अगस्त से करेंगे बिहार के चुनाव प्रचार अभियान की वर्चुअल शुरूआत, 10 लाख लोगों तक पहुँचने का हैं लक्ष्य

महावीर कैंसर संस्थान का ओपीडी सोमवार से खुल जाएगा। अस्पताल के अधीक्षक एलबी सिंह ने बताया कि आंशिक रूप से ओपीडी खुलेगा। 60 ही नए मरीज देखे जायेंगे। सभी विभाग में कुल 260 मरीज देखे जाएंगे। बाद में स्थिति को देखते हुए निर्णय लिया जाएगा। चूंकि वर्तमान में खास कर महावीर कैंसर संस्थान में जिस तरह के मरीज आते हैं, उनसे अस्पताल में संक्रमण फैलने का डर रहता है। वहीं अस्पताल की साफ-सफाई का जिम्मा कोलकता के एक एजेंसी को दिया गया है।

नक्सली मोहन यादव की गोली मारकर हत्या, वर्चस्व की लड़ाई में गयी जान

नक्सली संगठनो और लोगो के बीच अक्सर वर्चस्व की लड़ाई को लेकर खुनी संघर्ष होता रहा है. रविवार की देर रात बुढ़मू थाना क्षेत्र के जंगली इलाका एरुद गांव के उत्तर और उमेडण्डा के पूरब क्षेत्र में नक्सली मोहन यादव की लाश बरामद की गई है।

Also Read: चतरा सांसद प्रतिनिधि की गोली मार कर हत्या, प्रतुल शाहदेव ने कहा जंगलराज की हो गयी है वापसी

कहा जा रहा है कि वर्चस्व की लड़ाई में टीपीसी उग्रवादियों द्वारा मनोज यादव की हत्या की गई है। शव के पास एसएलआर का मैगज़ीन, गोलियां, पाउच, नक्सल साहित्य बरामद किया गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया है।

चतरा सांसद प्रतिनिधि की गोली मार कर हत्या, प्रतुल शाहदेव ने कहा जंगलराज की हो गयी है वापसी

चतरा सांसद प्रतिनिधि सह लातेहार भाजपा जिला महामंत्री जयवर्धन सिंह की अज्ञात अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी है. घटना 5 जुलाई रात 8 बजे के लगभग घटी है. जयवर्धन सिंह बस स्टैंड के पास स्थित एक प्रज्ञा केंद्र के सामने बैठे हुए थे. प्रज्ञा केंद्र के संचालक ने बताया कि उन्हें आकर बैठे कुछ देर ही हुए थे. इतने में पीछे से 2 अपराधी आये और पीछे पीठ और गर्दन के पास सटा कर गोली मार दी. जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गयी.

Also Read: मंत्री रहे अमर बाउरी को जो बांग्ला मिला उसे खाली करने का विभाग ने दिया था नोटिस, अब पुलिस की मदद से कराया जायेगा खाली

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने लातेहार जिला में भाजपा के जिला महामंत्री जयवर्धन सिंह की हत्या पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि झारखंड में जंगलराज वापस आ गया है. उन्होंने कहा कि राज्य में विधि व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गयी है. यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. राज्य में पिछले 6 महीने में नक्सली और आपराधिक घटनाओं में अप्रत्याशित रूप से वृद्धि हुई है.

Also Read: शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने फिर दोहराया 1932 खतियान की बात, कहा झारखंडी कौन यह 1932 का खतियान तय करेगा

राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए प्रतुल शाहदेव ने कहा कि अगर इस घटना के पीछे लिप्त अपराधियों और साजिश कर्ताओं को गिरफ्तार नहीं किया तो भाजपा सीधा आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव से पूर्व प्रशासन के निर्देश पर जयवर्द्धन सिंह ने अपना लाइसेंसी हथियार जमा कर दिया था. चुनाव के बाद उन्होंने लिखित आवेदन देकर हथियार को वापस रिलीज करने की मांग की थी, लेकिन प्रशासन ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की. इसके लिए दोषी प्रशासनिक अधिकारियों पर भी कड़ी कार्रवाई हो.

Also Read: बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी है. लातेहार के भाजपा जिला महामंत्री जयवर्धन सिंह की सरेआम हत्या हो गयी. इसकी जितनी भर्त्सना की जाये कम है. सरकार अपराधियों को तत्काल पकड़ कर कड़ी कार्रवाई करे. कानून व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ, तो भाजपा उग्र आंदोलन करेगी.

झारखंड में रविवार 5 जुलाई को मिले 27 कोरोना पॉजिटिव, राज्‍य में संक्रमितों का आंकड़ा 2777 पर पहुंचा

रविवार को फिर से 27 कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है। आज के ताजा मामलों में लोहरदगा में 10 और रांची में 7 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, कोडरमा में 3, सिमडेगा, जमशेदपुर और रामगढ़ में भी 2-2 कोरोना के नए मामले सामने आए और पलामू में एक कोरोना मरीज मिला है।

Also Read: इस दिन आ सकता है 10वीं और इंटर के साइंस एवं कॉमर्स का रिजल्ट, जानें कैसे करना है चेक

राज्‍य में संक्रमितों का आंकड़ा 2777 पर पहुंच गया है। जबकि इनमें से 2035 कोरोना संक्रमण से मुक्‍त होकर कोविड अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज हो गए हैं। राज्‍य में अबतक कोरोना से कुल 19 मौतें हुई हैं।

Note: ये शाम 7 बजे तक मिले कोरोना के मामले है

CM नितीश कुमार 7 अगस्त से करेंगे बिहार के चुनाव प्रचार अभियान की वर्चुअल शुरूआत, 10 लाख लोगों तक पहुँचने का हैं लक्ष्य

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार 7 अगस्त को पार्टी के चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे, इस साल नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले वर्चुअल रैली के माध्यम से जिसका उद्देश्य बिहार के विभिन्न क्षेत्र के लोगों तक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से पहुंचना है।

Also Read: बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

नितीश कुमार वर्चुअल रैली के माध्यम से विकासात्मक पहलों और जनता के मूड को समझने की कोशिश करेगे साथ ही आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए एनडीए गठबंधन के पक्ष में वोट करने और अपने लिए एक और कार्यकाल की मांग जनता से करेंगे। कोविड-19 से उत्पन्न स्थिति के कारण राजनितिक पार्टीया चुनावी रैली के लिए सोशल मीडिया को बड़े हथियार के रूप में इस्तेमाल कर रहे है. देश के गृह मंत्री अमित शाह ने सबसे पहले वर्चुअल रैली की शुरुआत की थी जिसके बाद लगभग सभी राजनितिक पार्टी इसका इस्तेमाल कर रही है.

Also Read: शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने फिर दोहराया 1932 खतियान की बात, कहा झारखंडी कौन यह 1932 का खतियान तय करेगा

पार्टी के महासचिव नवीन कुमार आर्य ने कहा कि पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के अलावा कम से कम 10 लाख लोगों को आगामी बिहार चुनावों के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संबोधन की लाइव स्ट्रीमिंग से जोड़ा जाएगा। वर्चुअल रैली को लेकर पार्टी उत्साहित है और प्रस्तावित वर्चुअल रैली को एक भव्य आयोजन बनाने के लिए प्रयास शुरू हो गए हैं।

Also Read: मंत्री रहे अमर बाउरी को जो बांग्ला मिला उसे खाली करने का विभाग ने दिया था नोटिस, अब पुलिस की मदद से कराया जायेगा खाली

नितीश कुमार की पहली वर्चुअल रैली को सफल बनाने के लिए पार्टी ने एक टीम का गठन किया है जिसका नेतृत्व जदयू के वरिष्ठ नेता आरसीपी सिंह, राजीव रंजन सिंह, उर्फ ​​लल्लन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, राज्य ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव कर रहे हैं। टीम 18 जुलाई से 31 जुलाई तक सभी 243 विधानसभा क्षेत्रों में ऑनलाइन बैठकें आयोजित करेगी, जिसका उद्देश्य पार्टी के अभियान को सही रूप देने और वर्चुअल रैली के लिए लिए मंच तैयार करना है।

पार्टी महासचिव आर्य ने कहा, “पार्टी ने कम से कम छह विधानसभा क्षेत्रों में प्रत्येक दिन एक टीम पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओ के साथ वर्चुअल सम्मलेन (बैठक) आयोजित करने का लक्ष्य रखा है। इस प्रकार सभी चार टीमों द्वारा 24 विधानसभा क्षेत्रों को प्रत्येक दिन कवर किया जाएगा और 31 जुलाई तक कार्य समाप्त हो जाएगा जिससे की 7 अगस्त को होने वाली रैली के लिए लोगो को जुटाने का पर्याप्त समय मिल जाएगा।