सिदो-कान्हो के वंशज के हत्या को लेकर भाजपा नेताओ ने राज्यपाल से की मुलाकात, सीबीआई से जांच कराने की मांग

सिदो-कान्हो के वंशज रामेश्वर मुर्मू की हत्या को लेकर भाजपा शिष्टमंडल ने सोमवार को राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। भाजपा एसटी मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अरुण उरांव ने कहा कि मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र में हुई इतनी बड़ी घटना पर उनका कोई संज्ञान नहीं लेना, शहीद के प्रति उनकी नकारात्मक मानसिकता को दर्शाता है।

प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष हेमलाल मुर्मू ने कहा है कि जब राज्य में शहीद परिवार का वंशज असुरक्षित है, तो अन्य जनजातीय समाज की सुरक्षा समझ से परे है। आए दिन आदिवासियों की हत्या हो रही है, पर राज्य सरकार कान में तेल डालकर सोई हुई है।

पूर्व विधायक लक्ष्मण टुडू ने कहा कि पूरे प्रदेश में मंगलवार को भाजपा के कार्यकर्ता मृतक के परिजनों की भावना के साथ खड़ा होकर सादगीपूर्ण तरीके से हूल दिवस मनाएंगे।

राज्यपाल को सौपे ज्ञापन में हत्याकांड और पुलिसिया कार्रवाई की भर्त्सना करते हुए इसकी सीबीआई से जांच कराने की मांग की गई। परिजनों को 10 लाख का मुआवजा, सरकारी नौकरी, बच्चों को शिक्षा और परिवार को सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की गई।

राज्यसभा सांसद समीर उरांव ने कहा कि कल हूल दिवस के पूर्व ऐसी घटना शहीद का घोर अपमान है। हत्यारों को फांसी की सजा मिलने से ही सिदो- कान्हो को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। शिष्टमंडल में पूर्व विधायक शिवशंकर उरांव, गंगोत्री कुजूर, अशोक बड़ाईक और बिंदेश्वर उरांव शामिल थे।

बिहार विधानसभा में 12 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी में झामुमो, राजद गठबंधन का होगा हिस्सा

झारखंड विधानसभा चुनाव फ़तेह करने के बाद अब सबकी की निगाहे इस वर्ष के आखिर में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव पर है. सत्ताधारी एनडीए गठबंधन जहाँ के बार फिर सत्ता में काबिज होने उतरेगा वही राजद-कांग्रेस और झामुमो गठबंधन जदयू और भाजपा को सत्ता से बेदखल करने उतरेगा।

बिहार विधानसभा का चुनाव 2020 के आखिर में यानी नवंबर के महीने में होने की उम्मीद है क्यूंकि 2015 में चुने गए वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर 2020 को समाप्त होगा। इस बार चुनाव में जेडीयू के नेतृत्व वाले एनडीए और आरजेडी के नेतृत्व वाले यूपीए के बीच दिलचस्‍प लड़ाई होगी। सुप्रियो भट्टाचार्य ने बताया कि पार्टी फिलहाल बिहार में 12 सीटों पर अपने उम्‍मीदवार उतारने की रणनीति पर काम कर रही है।

Also Read: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का राजभवन के समक्ष धरना, केंद्र सरकार पर साधा निशाना

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा 12 विधानसभा सीटों तारापुर, कटोरिया, मनिहारी, झाझा, बांका, ठाकुरगंज, रूपौली, रामपुर, बनमनखी, जमालपुर, पीरपैंती और चकाई पर प्रत्याशी उतारने की तैयारी में जुटा है। झामुमो राजद के नेतृत्व वाले गठबंधन का हिस्सा होगा।

गुमला में व्यापारी से लूटपाट करने के दौरान एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या

गुमला जिले के घाघरा थाना क्षेत्र के बनियाडीह गांव थाना से महज तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. अपराधियों द्वारा व्यापारी से लूटपाट करने के दौरान एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। गोली लगने से जिसकी मौत हुई है वो बनियाडीह गांव निवासी 35 वर्षीय ठाकुर उरांव है।

घटना के संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि बनियाडीह गांव के पास घाघरा निवासी नवीन साहू धान खरीदी का कार्य दुकान लगाकर करता था। प्रत्येक दिन की तरह आज भी दुकान खोलकर अपने स्टाफ ठाकुर उरांव बनियाडीह गांव निवासी के साथ दुकान पर बैठा था कि अचानक ही तीन बाइक पर सवार होकर 6 की संख्या में हथियारबंद अपराधी आ धमके। अपराधी दुकान के अंदर घुसते ही नवीन की कनपटी पर पिस्तौल तानते हुए कहा कि सारा पैसा दे दो। इस पर नवीन अपना सारा पैसा निकाल कर दे दिया।

Also Read: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का राजभवन के समक्ष धरना, केंद्र सरकार पर साधा निशाना

पैसा लूट कर अपराधी जा रहे थे कि ठाकुर उरांव ने दुकान में रखी लाठी से अपराधियों पर प्रहार कर दिया। इसमें एक अपराधी को सिर पर गंभीर चोट भी आई है। वही अपराधियों पर जैसे ही ठाकुर ने वार किया, दूसरी बाइक पर सवार अपराधियों ने उसके सीने में गोली मार दी। गोली लगते ही ठाकुर जमीन पर गिर गया और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई।

मृतक ठाकुर के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पत्नी सुरमिला देवी का कहना है कि अपराधियों ने हमारे पति की हत्या कर दी है। अब हमारे घर में खाने के लिए कुछ नहीं है। मजदूरी कर पति कमाते थे। हमारे दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। इसलिए सरकार हमें मुआवजा के साथ नौकरी दें ताकि अपना जीवन यापन कर सके।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का राजभवन के समक्ष धरना, केंद्र सरकार पर साधा निशाना

झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सह खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने धरना दिया. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के खिलाफ झारखंड कांग्रेस ने राजभवन के समक्ष धरना दिया. केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ पोस्टर के जरिए कांग्रेस नेताओं ने निशाना साधा।

धरना पर बैठे कांग्रेस नेताओं ने पोस्टर के जरिए केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोला. उन्होंने कहा कि तेल की बढ़ती कीमत की मार झेलने को जनता मजबूर है. लगातार पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़ रहे हैं. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जवाब देना चाहिए. सवाल किया है कि देश के इतिहास में पहली बार डीजल की कीमत पेट्रोल से अधिक हुई है. आखिर इसके पीछे की वजह क्या है.

Also Read: भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा, हेमंत सरकार झारखंड को जंगल राज की ओर ढकेल रही है

26 जून को झारखंड कांग्रेस की ओर से शहीदों को सलाम कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम के तहत राज्य मुख्यालय, जिला और प्रखंड मुख्यालयों में शहीद स्मारक, महात्मा गांधी की प्रतिमा या अन्य स्वतंत्रता सेनानियों की प्रतिमा के समक्ष पार्टी नेताओं ने धरना दिया. इस दौरान भारत-चीन की सीमा पर शहीद हुए वीर जवानों की याद में मौन कार्यक्रम आयोजित किया गया था.

धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम में झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव, आलोक दुबे, अजय नाथ शाहदेव समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद थे.

बिहार: मंत्री और उनकी पत्नी कोरोनावायरस से संक्रमित

covid-doctor

बिहार के पिछड़ा एवं अति पिछड़ा कल्याण मंत्री विनोद कुमार सिंह और उनकी पत्नी में कोरोनावायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है. कटिहार के जिलाधिकारी के कंवल तनुज ने रविवार को बताया कि दोनों पति-पत्नी को एक निजी होटल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. क्षेत्र से विधायक विनोद सिंह के संपर्क में आने वाले सभी लोगों का पता लगाया जा रहा है ताकि उनके नमूनों की भी जांच की जा सके. मंत्री के नमूने की पटना में जांच की गई थी.

Also Read: रेड अलर्ट: बिहार के इन आठ जिलों में रहना होगा सतर्क, NDRF की टीम तैनात

तनुज सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंत्रिमंडल के पहले ऐसे मंत्री हैं जो कोरोनावायरस की चपेट में आए हैं. इससे पूर्व गत 22 जून को बिहार के दरभंगा जिले के जाले विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक जिबेश कुमार मिश्रा में कोरोनावायरस संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर उन्हें इलाज के लिए पटना एम्स भेज दिया गया था.

राजद के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और में 17 जून को कोरोनावायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी. रघुवंश की 16 जून को अचानक तबीयत अधिक खराब होने पर उन्हें पटना एम्स में भर्ती कराया गया था और 17 जून को आई उनकी जांच रिपोर्ट में कारोनावायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी.

Also Read: पेट्रोल-डीजल की महंगाई के खिलाफ RJD का प्रदर्शन, तेजस्वी यादव के साथ तेजप्रताप भी रहे मौजूद

रेड अलर्ट: बिहार के इन आठ जिलों में रहना होगा सतर्क, NDRF की टीम तैनात

bihar-rain

NewsDesk: देश में मानसून ने अपना दस्तक दी दिया है। बिहार में मानसून प्रवेश कर चुका है। राज्य के कई जिलों में लगातार बारिश हो रही है। इसी के साथ मौसम विभाग ने बिहार के आठ जिलों में भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी कर दिया है। आईएमडी ने इन जिलों में अगले 72 तक बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग की मानें तो उत्तर बिहार में खासकर भारी बारिश की संभावना है।

इन जिलों में जारी हुआ रेड अलर्ट

मौसम विभाग ने पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, अररिया, कटिहार, किशनगंज और सहरसा में भारी बारिश के चेतावनी दी है, वहीं बिहार की राजधानी पटना में हल्की बारिश की संभावना जताई गई है। इसके अलावा मौसम विभाग ने पड़ोसी देश नेपाल की तराई वाले इलाकों में अगले 24 घंटों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

ये भी पढ़ें: झारखंड में आकाशीय बिजली ने ले ली 6 लोगो की जान

मौसम विभाग के अलर्ट के बाद सभी जिला अधिकारियों को सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है। मौसम विभाग की मानें तो भारी बारिश के चलते जान-माल की हानि होने के साथ साथ निचले स्थानों में जलजमाव, बिजली की समस्या, यातायात बाधित, नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी होने जैसी समस्या पैदा हो सकती है। इसलिए सभी नदियों पर निगरानी बढ़ा दी गई है।

ये भी पढ़ें: अजीज-ए-मुबारकी ने कहा बिहार में हर साल बाढ़ आती है, कागजों पर बाढ़ रोका जाता है लेकिन परिणाम कहां हैं?

जिलों में तैनात की गई NDRF की टीम

बता दें कि मौसम विभाग की तरफ से दो दिन पहले भी बिहार में भारी बारिश का अलर्ट जारी करते हुए चेतावनी दी गई थी। वहीं एक बार फिर मौसम विभाग ने राज्य के आठ जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। विभाग की चेतावनी के बाद इन सभी जिलों में NDRF की टीम तैनात की गई है। आपदा प्रबंधन विभाग सभी जिलों की खुद मॉनिटरिंग कर रहा है।